ऐसा कारनामा करने वाले बने पहले खिलाड़ी ,आईपीएल में रोहित शर्मा ने रचा नया इतिहास, जानें पूरी खबर

 यूएई में खेले गए आईपीएल-2020 के फाइनल मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स को 5 विकेट से हराकर इस खिताब पर पांचवी बार अपना कब्जा जमाया। कोविड-19 महामारी की वजह से इस बार इस प्रतियोगिता का आयोजन यूएई में किया गया था और सबकुछ अलग था।  लेकिन हर हालात का सामना करते हुए मुंबई इंडियंस की टीम ने एक बार फिर से बाजी मारी। यूएई में इससे पहले साल 2014 में आइपीएल का आयोजन किया गया था। लेकिन तब पहले के सिर्फ 20 मैच ही यहां खेले गए थे। लेकिन इस बार पूरी लीग का आयोजन यहां हुआ और मुंबई इंडियंस चैंपियन बनी। विदेश में इस लीग के आयोजन की बात करें। 

तो इसकी शुरुआत सबसे पहले साल 2009 में की गई थी। जब भारत में आम चुनाव थे। आम चुनाव को देखते हुए साल 2009 में आइपीएल का आयोजन साउथ अफ्रीका में किया गया था और इस साल डेक्कन चार्जर्स ने आरसीबी को हराकर यह खिताब अपने नाम किया था।  डेक्कन चार्जर्स की तरफ से खेलते हुए रोहित ने फाइनल मैच में 24 रन बनाए थे और विनर टीम का हिस्सा रहे थे। उस साल टीम में वो एक बल्लेबाज की हैसियत से खेल रहे थे।  इसके बाद रोहित शर्मा ने भारतीय धरती पर अपनी कप्तानी में साल 2013, 2015, 2017 और 2019 में आइपीएल खिताब जीते और हर बार अपनी टीम का हिस्सा रहे। तो वहीं साल 2020 में यूएई में उन्होंने फिर से खिताब जीता और पहले ऐसे खिलाड़ी बने। जिन्होंने तीन अलग-अलग देशों में आइपीएल खिताब जीतने का गौरव हासिल किया। रोहित शर्मा के आइपीएल करियर की बात करें। तो वो इस लीग के फाइनल में छह बार पहुंचे हैं और हर बार खिताब जीतने में सफलता हासिल की। साल 2009 में वो डेक्कन चार्जर्स की टीम का हिस्सा था। जब ये टीम फाइनल में पहुंची थी और फिर खिताब पर कब्जा किया और तब रोहित टीम के कप्तान नहीं थे। तो वहीं इसके बाद 2013, 2015, 2017, 2019 और 2020 में रोहित फाइनल में पहुंचे और खिताब जीतने में सफलता हासिल की।  आइपीएल फाइनल में रोहित शर्मा-

साल 2009 - जीते (बतौर खिलाड़ी)

साल 2013 - जीते (बतौर कप्तान )

साल 2015 - जीते (बतौर कप्तान )

साल 2017 - जीते (बतौर कप्तान )

साल 2019 - जीते (बतौर कप्तान )

साल 2020 - जीते (बतौर कप्तान )

Post a Comment

0 Comments