चीन ने विकसित किया नकली सूरज, असली सूरज से गुना शक्तिशाली

 चीन हमेशा से ही अपनी अजीबोगरीब गतिविधियों को लेकर चर्चा में रहता है और नए-नए अविष्कार कर दुनिया को चौका देता है ऐसा ही अविष्कार चीन ने फिर कर दिया है चीन के वैज्ञानिकों ने कृत्रिम सूरज परमाणु संलयन रिएक्टर बना लिया है। यानी की चीन ने दुनिया में दूसरे सूरज के दावे को सच कर दिखाया है। चीन का दावा है की ये एक ऐसा परमाणु फ्यूजन है, जो असली सूरज से कई गुना ज्यादा ऊर्जा देगा।




गौरतलब है की चीन कई सालों से इस कृत्रिम सूरज को बनाने की कोशीशें कर रहा था। इस कामयाबी से चीन विज्ञान की दुनिया में उस मुकाम पर पहुंचा गया है जहां आज तक अमेरिका, जापान जैसे तकनीकि रूप से उन्नत देश भी नहीं पहुंच पाए थे।



मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने इस प्रोजेक्ट की शुरूआत वर्ष 2006 में कर दी थी। इस सूरज को एचएल-2एम नाम दिया गया है। चाइना नेशनल न्यूक्लियर कॉपोर्रेशन के साथ साउथवेस्टर्न इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिक्स के वैज्ञानिकों ने मिलकर इसे बनाया है। वैज्ञानिक बताते है की इसके पिछे सोच प्रतिकूल मौसम में भी सोलर एनर्जी को बनाया जा सके थी। कृत्रिम सूरज का प्रकाश असली सूरज की तरह तेज होगा। अच्छी बात यह एक परमाणु फ्यूजन है जिसे नियंत्रण भी किया जा सकेगा। इसे बनाने के लिए शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र का उपयोग किया गया है। जिससे यह 150 मिलियन यानी 15 करोड़ डिग्री सेल्सियस का तापमान हासिल कर सकता है।

Post a Comment

0 Comments