मच्छरों के काटने से होती है यह बीमारियां जरूर रखना चाहिए इन बातों का खास ख्याल

 जैसा की आप सबको पता है कि प्राचीन काल से ही मच्छर से छुटकारा पाने के लिए समय समय पर सरकार के द्वारा कई नीतियां बनाई गई। वैसे तो विभिन्न विभिन्न चिकित्सा ग्रंथों में भी मच्छरों और उनके काटने से होने वाले बीमारियों से रोकथाम और उपचार के लिए कई उपाय बताए गए हैं। मच्छरों की संख्या में ज्यादा वृद्धि तब होती है जब बारिश का मौसम आता है। मच्छर के काटने से होने वाली बीमारियां भी काफी बढ़ जाती हैं। मच्छरों के काटने पर कई अलग अलग प्रकार के बैक्टीरिया, वायरस और परजीवी हमारे शरीर के खून में मिल जाते हैं।और फिर उसके बाद ये वेक्टरिया और परजीवी हमारे शरीर में अपनी संख्या को बढ़ाते है।और धीरे धीरे हमारे शरीर में कई अलग अलग प्रकार के रोग उत्पन्न करते हैं।दोस्तों, वैसे इन रोगों में कई सारे रोग शामिल हैं। जैसे कि डेंगू, मलेरिया,पीला बुखार और चिकनगुनिया आदि।तो आइए दोस्तों हम सभी जानते है

 इन सभी रोगों के बारे में विस्तार से। आपने सुना ही सुना ही होगा कि डेंगू बुखार कितना खतरनाक होता है। मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारियां में से एक है , डेंगू बुखार डेंगू बुखार के लिए ज़िम्मेदार वाइरस का नाम डेंगू ही है।सिर्फ इसी वजह से इसका नाम भी डेंगू बुखार के नाम से जाना जाता है। डेंगू बुखार के मुख्य लक्षण है तेज बुखार आना , जोड़ों में दर्द, सिरदर्द आदि है।दोस्तों जैसा की आपको पता है की डेंगू के लिए अभी तक कोई भी वैक्सीन या फिर कोई भी टीका नहीं बना हुआ है। दोस्तों ये डेंगू बुखार बहुत ही खतरनाक बीमारी है। मलेरिया बुुुुखार एक साधारण बुखार होता है। मलेरिया बुखार एक प्रकार के वायरस के कारण से होता है।इस सक्रमित मच्छर के काटने से परजीवी वायरस हमारे शरीर के खून में मिल जाती है।और इससे मलेरिया वायरस नाम का रोग उत्पन्न होता है। दोस्तों मलेरिया नमक रोग लिवर को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचाता है। आइए अब जानते है मलेरिया रोग के लक्षण के बारे में, इनका लक्षण है-सिर दर्द, पसीना आना, उल्टी होना आदि। दोस्तों ये चिकनगुनिया रोग एडिज नमक मच्छर के काटने के वजह से ही होती है। चिकनगुनिया रोग 4 से 5 दिन में दिखाई देते है।इनके मुख्य लक्षण है- पीठ दर्द करना, सर दर्द करना और जोड़ों का दर्द आदि

Post a Comment

0 Comments