अनार का जूस एवं अनार खाने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है। अनार में एंटीआक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छे माने जाते हैं। एंटीआक्सीडेंट के कारण रक्त का शुद्धिकरण होता है। इसी के साथ अनार में विटामिन सी पाया जाता है जो कि हमारी त्वचा एवं पेट को साफ रखने का कार्य करता है। अनार खाने से ह्रदय रोग, विटामिन सी की कमी, , मधुमेह आदि रोगों में लाभ मिलता है। खून की कमी:- अनार के सेवन से रक्त का शुद्धिकरण होता है एवं रक्त में वृद्धि होती है। अनार में विटामिन सी एवं एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कि रक्त को शुद्ध करने का कार्य करते हैं इसी कारण यह मनुष्य में रक्त की कमी को पूरा करता है।

 शुगर और किडनी रोग:- अनार में एंटीआक्सीडेंट एवं विटामिन सी और कई पोषक पदार्थ के होने से यह मनुष्य को कई रोगों से बचाता है। इनमें से शुगर एवं किडनी रोग में यह अच्छा लाभदायक होता है। इसमें विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट के गुण होने के कारण यह शुगर को कंट्रोल करता है एवं कितनी के कई रोगों में लाभ पहुंचाता है।कई बार अनार का सेवन उन लोगों के लिए घातक हो जाता है. कई स्टडी में सामने आया कि जिन लोगों का एड्स या मानसिक बीमारी का इलाज चल रहा हो उनके लिए इलाज के साथ-साथ अनार का सेवन भारी पड़ सकता है. मानसिक समस्या होने की स्थिति में अगर आप इलाज के साथ-साथ अनार का सेवन कर रहे हैं, तो य‍ह हानिकारक हो सकता है. एलर्जी के मरीजों को अनार का सेवन चिकित्सक की सलाह के अनुसार ही करना चाहिए अन्याथा आपकी एलर्जी बढ़ सकती है.परंतु अगर आप निम्न रक्तचाप के मरीज हैं या डॉक्टर के अनुसार दवाईयों का सेवन कर रहे हैं, तो यह कभी-कभी नुकसानदायक हो सकता है. आप इंफ्लूएंजा, खांसी अथवा कब्ज से पीड़ित हैं तो आपको अनार का सेवन नहीं करना चाहिए, इससे आपको नुकसान हो सकता है. अनार में कुछ दाने काले हो गए होते है, उन्हें जूस बनाने या खाने से पहले निकल ले वरना ये पाचन तंत्र खराब कर सकते है. अगर किसी का ब्लड प्रेशर लो रहता है या डॉक्टर से बीपी की दवाइयां चल रही हो तो ऐसे लोगों के लिए अनार कभी कबार नुकसानदायक साबित हो सकता है. यदि आपको इंफ्लूएंजा, खांसी या कब्ज की शिकायत है तो आपको अनार का सेवन नहीं करना चाहिए, इससे आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है.