About Me

header ads

आडू फल का सेवन करने से होते है कई फायदे जड़ से खत्म होती है यह समस्या

 आडू फल सफेद पिले रंग का होता है दिखने में थोडा थोडा सेफ की तरह होता है. आडू में विटामिन सी, ए, ई, मिनरल, कार्बोहाइड्रेट, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सोडियम, जिंक, मैंगनीज, फास्फोरस, फाइबर, नियासिन, थियामिन, प्रोटीन, शुगर, कैलोरी, आयरन ये पोषक तत्व पाये जाते है. इस के सेवन से वजन घटना, कैन्सर, आंखे, पाचन तंत्र, मस्तिष्क, हृदय, तणाव दूर करे, बुढ़ापा, गर्भावस्था, त्वचा की देखभाल ये सभी रोगो को आडू लाभदायक साबित होता है. 


आडू में फायबर और पोषक तत्वो से तथा विटामिन सी से भरपूर है. इस के सेवन से गर्भावस्था में फायदा मिलता है जैसे शिशु की हड्डीया, दात, त्वचा, मासपेशिया, में विकास होता है. आडू में स्पाइना बिफिडा जैसे न्यूरल ट्यूब दोष को कम करणे में मदत करता है. साथ ही नवजात शिशु के मस्तिष्क रीढ हड्डी का दोष दूर होता है. इसलिये गर्भावस्था में आडू का सेवन जरूर करे. शरीर से एलर्जी के लक्षनो को कम करणे में ये मदत करता है. जैसे खासी, खुजली एैसे एलर्जी के लक्षनो को आडू के सेवन से फायदा होता है. वैज्ञानिक अनुसंधान से मालूम पडा है की रक्त में हिस्टामाइन के स्तर को कम करणे में मदत करता है. शरीर में आने वाले सुजन को तथा एैसे एलर्जी को कम करणे में मदत करता है. त्वचा को स्वस्थ और सुंदर बनाने के लिये आडू एक मात्र एैसा फल है जिस के सेवन से विटामिन सी, मिनरल्स, फ्लेवोनोइड्स, एंटीऑक्सीडेंट, इन सभी तत्वो के कारण त्वचा को हानिकारक संक्रमणों से बच्चाता है, मृत कोशिकाओं को हटाता है, काले धब्बे दूर करता है, झुर्रियों को कम करता है और प्रदूषण के नुकसान से हमे बचाता है. आडू में पाये जाने वाले पोषक तत्व हमारे त्वचा और बालो के लिये फायदेमंद है. आडू का सॉस आप घर में भी बना सकते है एक किलो आडू को सुखाये, दो चमच दालचीनी, दो उबले हुये आलू आब सॉस बनाने का तरीखा आडू और दालचीनी को एक साथ पीस ले करीबन 25 मिनिट तक मध्यम आच पर इन दोनो को पकाये फिर उस में आलू को मिलाकर अच्छी तरह से रगडे अपने हिसाब से मिर्ची का इस्तमाल करे जबतक ये गाडा बनता नहीं तब तक इसे पकाए जब ये ठंडा हो जायेगा तबी इसे ब्रेड या चपाती के साथ खाये इससे भी लाभ मिलेगा.

Post a Comment

0 Comments