About Me

header ads

विनोद खन्ना का जन्म पंजाबी हिंदू परिवार में कमला और कृष्ण चंद्र खन्ना के साथ 6 अक्टूबर 1946 को पेशावर ब्रिटिश भारत में हुआ था ,जानें पूरी खबर

 विनोद खन्ना का जन्म पंजाबी हिंदू परिवार में कमला और कृष्ण चंद्र खन्ना के साथ 6 अक्टूबर 1946 को पेशावर ब्रिटिश भारत में हुआ था उनकी तीन बहनों और एक भाई था उनके जन्म के कुछ समय बाद भारत का विभाजन हो गया और परिवार ने पेशावर छोड़ दिया और मुंबई चले गए विनोद खन्ना ने सेंट मैरी स्कूल मुंबई में कक्षा दूसरी तक पढ़ाई की और फिर दिल्ली चले गए उनको 57 में परिवार दिल्ली चला गया जहां उन्होंने दिल्ली पब्लिक स्कूल मथुरा रोड में पढ़ाई की हालांकि परिवार में सुसाइड में वापस मुंबई चला गया लेकिन उसे नासिक के पास छोड़ दिया गया अपने समय के दौरान विनोद खन्ना ने महाकाव्य 16 साल और मुग़ल-ए-आज़म को देखा और मोशन पिक्चर्स के साथ प्यार में पड़ गए मुंबई के सोच में उन्होंने खूब सोचा मैं सिर्फ एक और फिल्म स्टार बनूंगा लेकिन एक समय था जब मैंने कुंदन के साथ निष्कर्ष क्रिकेट खेला था 

बाद में हिंदू जिम में एक साथ दो लड़के साथ खेला मैं नंबर चार विकेट बाजी करता था लेकिन निपट गया फिल्मों के लिए मुझे एहसास हुआ कि मैं विश्वनाथ नहीं बन सकता यहां तक के क्रिकेट भी फिल्में नहीं मेरा पहला प्यार है उन्होंने 1979 में द स्टेट वीकली ऑफ इंडिया में लिखा था विनोद खन्ना एक भारतीय अभिनेता एवं फिल्म निर्माता और राजनेता थे जो भारतीय सिनेमा में अपने काम के लिए जाने जाते हैं ओवर 2 फिल्म फेयर पुरस्कार भी जीते थे वह 1998 से 2009 और 2014 से 2017 के बीच गुरदासपुर निर्वाचन क्षेत्र से सांसद थे जुलाई 2020 में विनोद खन्ना अटल बिहारी वाजपेयी मंत्रिमंडल में संस्कृति और पर्यटन मंत्री बने 6 महीने बाद वह विदेश राज्य मंत्री बने भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे सफल अभिनेता में से एक थे विनोद खन्ना से हमें कुछ सीखना चाहिए

Post a Comment

0 Comments