About Me

header ads

कान में दर्द की गंभीर समस्या किसी को भी हो सकती है। कान में दर्द होने पर जरूर कर ले ये उपाय

 कान में दर्द की गंभीर समस्या किसी को भी हो सकती है। कान में दर्द होने पर आपका मन किसी काम में भी नहीं लगता है और आप बहुत बेचैन हो जाते हैं। कई बार ये दर्द इतना अधिक बढ़ जाता है कि खाना-पीना, उठना-बैठना यहां कि आराम से सोना तक पूर्ण्तः दूभर हो जाता है। कानों की नसों की जड़ों में होने वाले विषाणु संक्रमण से शायद ही कभी संक्रमण होता हो जिसे हर्पिस जोस्टर ओटियस कहते हैं, जिसके कारण कान में बहुत ही असहनीय दर्द होता है। आईये जानते है इससे बचने के उपायतुलसी की पत्तियों को अच्छी तरह पीसकर उसके रस की दो-तीन बूंद कान में डालें। तुलसी के इस रस से कान का इंफेक्शन पूर्ण्तः ठीक होता है और दर्द दूर होता है।

कान के अंदरूनी जख्मों को भी ये रस पूरी तरह ठीक करता है। लहसुन की दो कलियों को बहुत ही अच्छी तरह से पीस लें। अब इसमें एक चुटकी नमक मिलाकर ऊनी कपड़े से बनायी गयी पुल्टीस को दर्द वाले हिस्से के ऊपर रखें इससे दर्द में आपको बहुत आराम मिलेगा। इसके अलावा लहसुन की तीन-चार कलियों को सरसों के तेल में भूनकर इस तेल को कान में डालें। इससे भी आपको बहुत लाभ मिलेगा।कान के दर्द के लिए जैतून के तेल को हल्का सा गुनगुना कर लें और इसे कान में डालें। इससे कान का दर्द थोड़ी देर में पूर्ण्तः ठीक हो जाएगा। आप चाहें तो रुई के फाहे को इस तेल में भिगाकर कान के अंदर भी अवश्य रख सकते हैं। मूली के पत्तों को अच्छी तरह पीसकर उसका रस निकाल लें। अब इस रस को तिल के तेल में बहुत देर तक पकाएं। जब रस भाप बनकर उड़ जाए तब इस तेल को कपड़े से छानकर शीशी में भर लें। अब जब भी आपके कान में दर्द हो इस तेल को हल्का सा गर्म करें औऱ दो-तीन बूंद कान में डालें। इससे कान दर्द तत्काल ठीक होगा। ये तेल एक साल तक खराब नहीं होता है।

Post a Comment

0 Comments