About Me

header ads

इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के 7 वें मैच में दिल्ली के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने अपने बल्ले से खतरा दिखाया,जानें इस बारे में

 इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के 7 वें मैच में दिल्ली के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने अपने बल्ले से खतरा दिखाया। शॉ ने शानदार अर्धशतक लगाकर अपनी टीम को 175 रनों के स्कोर तक पहुंचाया। शॉ ने चेन्नई के खिलाफ 43 गेंदों में 64 रनों की पारी खेली। 9 चौके और एक छक्का उनके बल्ले से निकला। शॉ का स्ट्राइक रेट 148 से अधिक था। यह पृथ्वी शॉ का आईपीएल में पांचवां अर्धशतक है और इसी के साथ उन्होंने एक विशेष उपलब्धि भी हासिल की।पृथ्वी शॉ ने दिल्ली के खिलाफ शानदार पारी के साथ 21 साल की उम्र से पहले 50 या उससे अधिक रन की पांच पारियां बनाईं। 

महज 21 साल की उम्र में ऋषभ पंत ने उनसे ज्यादा 9 पारियां खेली हैं। शॉ ने इस मामले में संजू सैमसन, शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर को हराया। तीनों बल्लेबाजों ने 21 साल की उम्र से पहले 4 अर्द्धशतक बनाए थे। पृथ्वी शॉ को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ अपनी किस्मत का साथ मिलता है, अगर शॉ को यह लक नहीं मिला तो वह अर्धशतक भी नहीं खोल पाएंगे। पृथ्वी शॉ दीपक चाहर की दूसरी गेंद पर आउट हुए। गेंद उनके बल्ले का अंदरूनी किनारा ले चुकी थी और धोनी ने एक कैच लिया लेकिन धोनी और चाहर दोनों ने अपील नहीं की। बाद में स्निको मीटर में, गेंद ने शॉ के बल्ले का अंदरूनी किनारा लिया। IPL 2020: 39 साल की उम्र में एमएस धोनी बने 'सुपरमैन', 9 फीट दूर फेंकी गेंद हालांकि, पृथ्वी शॉ ने पहली पारी की समाप्ति के बाद कमेंटेटरों से बातचीत के दौरान कहा कि उन्हें भी बल्ले के किनारे के बारे में पता नहीं था। शॉ ने अपनी पारी पर कहा, 'हम धीमी शुरुआत के लिए उतरे, लेकिन इसके बाद हमने अपने शॉट्स खेले। मुझे लगा कि मैं अपना स्वाभाविक खेल खेलूंगा। मैंने ग्राउंड शॉट्स खेलने की कोशिश की। तेज गेंदों ने मदद की। उन्होंने कहा, 'रिकी पोंटिंग ने पिछले मैच में बात की थी। पोंटिंग ने कहा था कि पावरप्ले में कई विकेट नहीं हैं। हमने जान-बूझकर जोखिम उठाया। पंजाब का मैच थोड़ा अलग था।

Post a Comment

0 Comments