About Me

header ads

धोनी खेलेंगे अपना फेयरवेल मैच ,जानें पूरी जानकारी

भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे प्रभावशाली क्रिकेटरों में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त की शाम अचानक इंटरनैशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया। धोनी ने इंस्टाग्राम पर ‘मैं पल दो पल का शायर हूं’ गाने के साथ एक वीडियो पोस्ट किया। इस वीडियो को पोस्ट करते हुए धोनी ने लिखा- ‘अब तक आपके प्यार और सहयोग के लिए धन्यवाद। शाम सात बजकर 29 मिनट से मुझे रिटायर्ड समझिए।’ उन्होंने भारत के लिए अपना आखिरी मैच 2019 के विश्व कप में खेला था, लेकिन उन्होंने तत्काल रिटायरमेंट की घोषणा नहीं की थी। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है, लेकिन वह 19 सितंबर से यूएई में शुरू हो रहे आईपीएल 2020 में खेलते दिखाई देंगे। 


पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने धोनी के रिटायरमेंट पर कहा कि उन्हें विश्वास है कि सचिन तेंदुलकर की तरह वह भी फेयरवेल मैच जरूर खेलेंगे। उन्होंने कहा, ”हम सब जानते हैं कि महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) को लेकर कितना जुनूनी हैं। चेन्नई आईपीएल की सबसे सफल टीम है। इसके लिए धोनी जो भी संभव होगा, करेंगे। लेकिन जहां तक फैन्स का संबंध है, इस बार आईपीएल में उनका जुनून भी धोनी के लिए अलग ही दिखाई देगा।” लक्ष्मण ने कहा, ”जब तक धोनी क्रिकेट खेलते हैं, वह चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान रहेंगे। धोनी का हर मूमेंट करीब से देखा जाएगा।” वीवीएस लक्ष्मण ने स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ”मुझे लगता है उनका फेयरवेल गेम वहीं होगा, जब वह चेन्नई सुपर किंग्स के लिए वह अपना आखिरी मैच खेलेंगे। जिस तरह सचिन ने फेयरवेल मैच वानखेड़े स्टेडियम में खेला, उसी तरह धोनी का फेयरवेल मैच चैपक में होगा। उनके सभी फैन्स भारतीय ही नहीं दुनिया भर में धोनी का अंतिम मैच देखेंगे।”


बता दें कि 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने धोनी ने 90 टेस्ट मैचों में 38.09 की औसत से 4,876 रन बनाए। उन्होंने अबतक 350 वनडे इंटरनेशनल खेले हैं, जिनमें 50.57 की औसत से 10,773 रन बनाए हैं। धोनी ने भारत के लिए 98 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में 37.60 की औसत से 1,617 रन बनाए हैं।
वनडे क्रिकेट में धोनी सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, सौरव गांगली, राहुल द्रविड़ के बाद पांचवें सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। कुल मिलाकर उन्होंने 538 मैच खेले, 17266 रन, 16 शतक, 106 अर्द्धशतक बनाए, 359 छक्के लगाए और विकेट के पीछे 829 खिलाड़ियों का शिकार किया।
2007 में अपनी कप्तानी में पहला टी-20 विश्व कप जीतने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने भारत को 28 साल के लम्बे अंतराल के बाद 2011 में वनडे वर्ल्ड कप चैंपियन बनाया था। भारत ने उनकी कप्तानी में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2013 भी जीती है और टीम इंडिया उनकी कप्तानी में टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक भी बनी थी और 600 दिनों तक नंबर एक रही थी। वह आईसीसी की तीनों ट्रॉफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान हैं।

Post a Comment

0 Comments