About Me

header ads

नकली सेनेटाइजर का इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक ,जानें पूरी जानकारी

आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में शराब का विकल्प समझकर सेनेटाइजर पीने से कम से कम 16 लोगों की मृत्यु के कारण का पता चल गया है. इन लोगों ने जिस सेनेटाइजर को पीया वह नकली था व उसे खतरनाक केमिकल मेथेनॉल से बनाया गया था. हालांकि लोगों ने सेनेटाइजर को एथेनॉल निर्मित समझकर पीया था. नकली सेनेटाइजर के नाजायज़ वितरण में लिप्त 10 लोगों को हिरासत में लिया गया है. यह जानकारी पुलिस ने मंगलवार को दी. जान गंवाने वाले सभी लोग शराब के नशे के आदी थे. पिछले महीने विभिन्न तिथियों पर कोविड-19 के चलते लागू लॉकडाउन के मद्देनजर प्रकाशम जिले के कुरीचेडू में शराब की नियमित दुकानें बंद थीं. इसके कारण लोगों ने शराब के विकल्प के रूप में सेनेटाइजर को पीना प्रारम्भ कर दिया.


प्रकाशम के पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ कौशल ने मंगलवार को बोला कि जिला पुलिस की एक विशेष जाँच टीम ने पाया कि 'परफेक्ट गोल्ड' नामक एक विशेष सेनेटाइजर मृत्यु का कारण बना. यह सेनेटाइजर एथेनॉल के बजाय विषाक्त मेथेनॉल से बना था. तेलंगाना में विकराबाद जिले के एस श्रीनिवास उर्फ जाजुला नाम के एक आदमी ने हैदराबाद शहर में एक किराए के कमरे से अपने भाई शिव कुमार के साथ मिलकर नाजायज़ रूप से सेनेटाइजर बनाया व इसे विभिन्न माध्यमों से बेचना प्रारम्भ कर दिया.


Post a Comment

0 Comments