बच्चों को दें कलाकारी करने का मौका ,होंगे कई फायदा

अक्सर हम कहते हैं कि बच्चे शैतानी करने में माहिर है। इसी शैतानी बुद्धि को उत्साहित करते हुए बच्चों को कलाकार बनने का मौका देना चाहिए। बच्चे ज्यादातर काम माता-पिता को देखकर सिखता है और अकेले में इसका प्रयोग कर लिया करता है। वे भी वही करते हैं जो बड़ो को करते देखा है छोटे छोटे बच्चों के हाथ में जब कैमरा आ जाता है तो हम डर जाते हैं, कि कहीं कैमरा गिरा न दे। एक बात ध्यान देने योग्य है कि बच्चे कभी गलती नहीं करते हैं, लेकिन हमारे डर से गलती कर बैठते हैं। मासूम बच्चे को कहां पता है कि कैमरा कितने में खरीदा गया है। उसे तो पता है कि इस से फोटो खींच सकते हैं और वे जिस प्रकार बड़ो को करते देखा है उसी प्रकार फोटो खींचने की तैयारी करता है।


बच्चों में बहुत छोटे उम्र से ही हुनर पनपने लगता है, कौन सा हुनर किसमें है किसी को पता नहीं होता है। हमें आगे चलकर उत्साहित करने की जरुरत है। बच्चे देश के भविष्य है, इन्हें अपने हिसाब से बढ़ने देना चाहिए।
कभी कभी ये बच्चे ऐसा काम कर जाता है जो हम कभी सोच भी नहीं सकते हैं। बच्चों के उम्र को नजरंदाज कर, उसे अपने हिसाब से छोटे बड़े कलाकारी दिखाने का मौका देने पर अच्छा अच्छा करतब सामने आ जाता है। आज कल बच्चियों को राखी बनाने का शौक हुआ है और बना भी रही है। प्रोत्साहित करने पर बना भी लेगी। लड़के भी गिफ्ट बना रहा है और समय पर बना भी लेगा।


उस लम्हा कितना खुशी भरा होगा जब बहन भाई को और भाई बहन को अपने हाथों से बनाया हुआ सरप्राइज गिफ्ट देंगे। अविभावक भी भावुक हो जायेंगे और बच्चे खुशी से झूमेंगे।
यह कारीगरी चंद दिनों की बात नहीं है, ये तो सिर्फ शुरुआत है। इसी प्रकार से बच्चों की मानसिक विकास होता रहा तो आगे चलकर वह कुछ बड़ा कर दिखाएगा।


Post a Comment

0 Comments