About Me

header ads

तनाव की समस्या से छुटकारा पाना चाहते है तो करें यह उपाय

आज की खराब लाइफस्टाइल और खानपान के कारण इंसान तनाव और चिंता जैसी समस्याओं का शिकार बन रहे हैं. आयुर्वेद के अनुसार तनाव यानि कि मनोवैज्ञानिक समस्याओं है कई कारण होते हैं. आप दिन प्रतिदिन कई स्वास्थ्य समस्याओं या किसी तरह की भावनात्मक उथल-पुथल के कारण चिंतित या तनावग्रस्त महसूस कर सकते हैं. तनाव की वजह से आपको एलर्जी, अस्थमा, उच्च कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर की समस्याएं होने की संभावना होती हैं यह किसी इंसान के शरीर में वात, पित्‍त, कफ के असंतुलन की भी वजह बन सकता है. ऐसे में आयुर्वेद प्राकृतिक जड़ी बूटी की मदद से आप इसका उपचार कर सकते हैं. ये जड़ी बूटियों में मौजूद शक्ति आपको प्राकृतिक और स्वस्थ तरीके से रोगों को दूर करने में सहायता करती है, तो आइए आज हम आपको ऐसी कुछ आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपके तनाव को दूर करने में सहायक होती हैं ब्राम्‍ही का सेवन करें


ब्रह्मी आपके तनाव या चिंता को कम करने के लिए जानी जाती है. इसके सेवन से आप तनाव हार्मोन यानि कि कोर्टिसोल के लेवल को कम किया जा सकता है. यह जड़ी बूटी आपके तनाव प्रतिक्रिया से जुड़े हार्मोन को विनियमित करके तनाव के प्रभावों का सामना करने का काम करती है. यह आपकी एकाग्रता को और बढ़ाने में मदद करती है इसके सात ही तंत्रिका तंत्र पर एक अच्छा असर छोड़कर दिमाग की कोशिकाओं का पुनरुत्थान करती है जटामासी का सेवन करें


जाटामासी भी आपके तनाव या चिंता को कम या खत्म करने और थकान को दूर करने वाली एक जड़ी बूटी है. जटामासी की जड़ें पौधे के प्रमुख औषधीय हिस्से होते हैं जो आपके तनावग्रस्त दिमाग पर चिकित्सकीय प्रभाव डालने का करती है. ये जड़ें आपके दिमाग और शरीर को विषाक्त पदार्थों और अवरोधों से बचाकर सुरक्षित रखती हैं और आपके दिमाग को स्थिरता प्रदान करती हैं, जिससे आपके दिमाग को अच्छी तरह से काम करने में मदद मिलती है भृंगराज का सेवन करें


भिंगराज की चाय के सेवन से आपका शरीर डिटोक्सीफाई होता है और इससे आपके दिमाग को लगातार ऑक्सीजन की आपूर्ति और ब्लड सर्कुलेशन में बढ़ोत्तरी मिलने में सहायता मिलती है. इस चाय के शांत असर से आपका दिमाग भी शांत होता है और आपके शरीर को आराम महसूस होता है अश्‍वगंधा का सेवन करें अश्वगंध एमिनो एसिड और विटामिन का एक मिश्रण होता है, जो आपके शरीर को तनाव से बचाने में आपकी मदद करता है. इसके अलावा यह आपकी ऊर्जा, सहनशक्ति और धैर्य को बढ़ाने में सहायक होता है. यह आपकी अच्‍छी नींद को भी बढ़ाने में मददगार होता है और आपके शरीर में ऊर्जा को संतुलित करता है.

Post a Comment

0 Comments