About Me

header ads

लड़को से ज्यादा क्यों रोने लगती है लड़कियां ,जानिए इसकी वजह

देखा जाता हैं कि लड़कियां लड़कों के लिए ज्यादा रोती है ऐसा क्यों होता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लड़कियां बहुत ज्यादा इमोशनल होती जाती वह बहुत ज्यादा सेंसिटिव होती है इसीलिए हमेशा लड़कियों को ज्यादा प्यार दिया जाता है और लड़कियां सच में बहुत ही मासूम होती है जब भी किसी लड़की को किस लड़की से प्यार होता है तो वह सबसे पहले इमोशनली अटैच होती है उस लड़के से जबकि लड़का हमेशा प्रैक्टिकल अप्रोच रखता है इसीलिए वह प्रैक्टिकल सोचता है।लड़कियां कभी भी प्रैक्टिकली नहीं सोचती भी इमोशनल तरीके से सोचती है और वह अपना हर डिसीजन इमोशनल तरीके से ही देती है।


लड़कियां बोलती थी जिसके कारण वह बहुत जल्दी रोने लगती है और वह जल्दी उदास हो जाती है जिसके कारण वह बहुत ज्यादा रो कभी कबार रोने लगती है। आज हम आपको बताएंगे कि लड़कियां लड़कों से ज्यादा क्यों रोती है लड़कियां लड़कों से ज्यादा इसलिए होती है क्योंकि वह बहुत ज्यादा इमोशनल होती है जिसके कारण उन्हें रोना जल्दी से आ जाता है।लड़कियों का दिल बहुत नाजुक होता है और वह दिमाग से नहीं वह दिल से सोचती है इसीलिए उन्हें रोना भी जल्दी आता है लड़कियां जो 


भी करती है अपने दिल से करती है और उसके अंदर वह अपना दिल रखती है इसीलिए उन्हें किसी भी बात का बहुत जल्दी से हर्ट हो जाता है और वह रोने लग जाती है लड़कियां बहुत ही ज्यादा इमोशनल होती है लड़कियां अगर किसी से भी प्यार करती है तो अपने दिल से प्यार करती है और वह उस इंसान से इमोशनल जाता है जो जाती है जिसके कारण उन्हें उस धोखे को सहन करने की शक्ति नहीं होती और वह बात-बात पर रोने लगती है इसका मतलब यह नहीं है कि वह कमजोर है इसका मतलब यह है कि वह इमोशनली इतनी स्ट्रांग नहीं है जिसके कारण उन्हें रोना आता है।

Post a Comment

0 Comments