आखरी गेंद पर सिक्सर लगा कर दिलाई थी रोमांचक जीत इस खिलाड़ी ने ,जानिए

दिनेश कार्तिक अब 35 वर्ष के हो चुके है वो टीम इंडिया में तब आये थे जब पार्थिव पटेल बुरी तरह से नाकाम हुए थेउन्होंने 4 सितम्बर 2004 को  भारत के लिए लाड्स के मैदान में डेब्यू था पहले की मैच में उन्होंने शानदार  तरिके से माइकल वान को एक ही हाथ से स्टाम्प आउट किया था  
कुछ महीनो बाद उन्होंने कंगारू टीम के खिलाफ टेस्ट करियर की शुरुआत की  लेकिन पहले 10 टेस्ट मैच में वह केवल एक ही अर्ध सतक बना पाए थे उनकी ये नाकामी धोनी के लिए फायदेमंद साबित हुए धोनी जैसे ही टीम इंडिया में अपने पैर जमाते गए वैसे वैसे कार्तिक का चांस कम होता गया धोनी हर फॉर्मेट में अच्छा कर रहे थे इसलिए दूसरे विकेट किपर को चांस मिलना मुस्किल था  


पर इसके बावजूद कार्तिक ने हर नहीं मानी और वो अपनी बैटिंग को बेहतर करने के लिए बैक उप विकेट कीपर और मिडिल बैटमैन के तोर पर खेलते रहे जब धोनी ने 2014 में विकेट कीपर से सन्यास ले लिया तो कार्तिक की जगह रिद्धिमान साहा को मौका दिया गया हालांकि आईपीएल में कार्तिक उच्च कीमत पर ख़रीदे गएवो दिल्ली पंजाब गुजरात मुंबई  आरसीबी और कोलकाता की टीमों का हिस्सा रहे बाद में वे केकेआर के कप्तान बन गए 


साल 2018 में निदहास  ट्रॉफी की फाइनल मैच में भारत को जित के लिए केवल एक गेंद में 5 रन की आवश्कता थीतब दिनेश कार्तिक ने शानदार सिक्सर लगा कर भारत को जीत दिलाई थी  इस शॉट के लिए उन्हें हमेसा याद किया जायेगा उनके विकेट कीपर की तरह ही उनकी जिंदगी भी उतार चढा़व भरी रही  साल 2007 में कार्तिक ने निकिता वंजारा से शादी कर ली थी पर बाद में उनकी पत्नी का अफेयर टीम इंडिया के दूसरे खिलाडी मुरली विजय के साथ हो गया  नौबत तो तलाक तक आ गई बाद में निकिता ने मुरली विजय से शादी कर ली 

Post a Comment

0 Comments