About Me

header ads

मरने के बाद इस जगह जाती है आत्मा ,जानकर आप चौक जाओगे

ये तो सभी को मालुम होगा कि जिसने इस संसार को बनाया वो ही हमारा रचनाकार है और जो जन्म लेता है उसे एक ना एक दिन मृत्यु को प्राप्त होना ही पडता है ये एक साशवत नियम है। वैसे दुनिया में हर धर्म का अपना-अपना रिवाज होता है।कहते है कि मरने के बाद इंसान मिट्टी में मिल जाता है भले ही हर मजहब में अंतिम संस्कार का तरीका अलग अलग हो मगर जब किसी भी इंसान की मृत्यु होती है तो वह किसी ना किसी तरह से मिट्टी में मिल ही जाता है। ऐसे में मुस्लिम समाज में अक्सर लोगो को कब्र में दफनाया जाता है। अक्सर लाश पर इत्र और नमक छिड़का जाता है, ताकि लाश से बदबू ना आए। बुजुर्ग लोग कहते है कि कई बार किसी की मौत के बाद उसकी 


आत्मा की मुक्ती नहीं हो पाती है पुनर्जन्म की अवधारणा सिर्फ हिंदू धर्म में ही है। सनातम धर्म और उसके शास्त्रों के मुताबिक एक आत्मा अपने जीवन चक्र में कई शरीर को धारण करती है जबतक कि उसे मोक्ष की प्राप्ति नहीं हो जाती है। जानिये आखिर मरने के बाद आत्मा क्या होता है और वो कहा चली जाती है आज हम आपको कुछ ऐसी कारण बताने जा रहे है 


जिनकी वजह से ही आत्मा की मुक्ती नहीं हो पाती है। इसका सबसे पहला कारण है कि अगर मृत शख्स की कोई आखिर इच्छा है जो पूरी नहीं हो पाती है तो इंसान की आत्मा सभी लोगों के बीच भटकती रहती है जब पितृदोष से मुक्ति हेतु श्राद्धपक्ष और हर महीने की अमावस्या पर पितरों की आत्मिक शांति के लिए पिंडदान नहीं किया जाता है, तो ऐसे में भी आत्मा भटकती रहती है।

Post a Comment

0 Comments