About Me

header ads

क्यों भारतीय टीम के लिए नहीं खेल पा रहे हैं महेंद्र सिंह धोनी,वजह जानकर आप हो जायेंगे हैरान

टीम इंडिया के विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी पिछले 10 महीनों से क्रिकेट मैदान से दूर हैं. इस बीच लगातार क्रिकेट के गलियारों में उनकी टीम में वापसी को लेकर चर्चा चल रही है. कुछ खिलाड़ियों का मानना है कि यकीनन एमएस टीम में वापसी करेंगे, तो वहीं को इस बात की गुंजाइश कम लगती है. अब माही की वापसी को लेकर 1983 विश्व कप टीम के खिलाड़ी रह चुके चेतन शर्मा ने भी एमएस की वापसी पर अपने विचार साझा किए हैं धोनी की टीम में वापसी पर बोले चेतन शर्मा भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की टीम में वापसी एक पहेली बनकर रह गई है. क्योंकि पिछले 10 महीने से ना तो एमएस ने वापसी को लेकर कोई बयान दिया ह और ना ही टीम मैनेजमेंट ने. ऐसे में लाइव चैट्स के दौरान क्रिकेटर्स एमएस की वापसी पर चर्चा करते नजर आते हैं. अब हेलो एप पर लाइव चैट करते हुए विश्व कप में भारत के लिए पहली हैट्रिक लेने वाले चेतन शर्मा ने माही की वापसी को लेकर कहा,


“चाहे आप कितने भी अच्छे खिलाड़ी हों लेकिन अगर आप लगातार काफी लंबे समय से क्रिकेट नहीं खेल रहे हैं, तो आप की जगह कोई और आ जाता है जो कि अपने आपको वहां पर अच्छी तरह से जमा लेता है. जिसके बात आप की वापसी करना तो संभव है लेकिन उसको हटाना संभव नहीं होता जिस वजह से आपकी वापसी नहीं हो पाती कुछ ऐसा ही हो रहा है महेंद्र सिंह धोनी के साथ केएल राहुल कर रहे अच्छी विकेटकीपिंग एमएस की गैरमौजूदगी में विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी ऋषभ पंत के हाथ में थी. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गए एकदिवसीय सीरीज में पंत के इंजर्ड होने के बाद कप्तान ने को विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी सौंपी. राहुल ने अच्छी विकेटकीपिंग से टीम में बतौर विकेटकीपर-बल्लेबाज जगह पक्की कर ली न्यूजीलैंड दौरे पर खेले गए 5 टी20 आई व 3 वनडे मैचों में राहुल ने विकेटकीपिंग जिम्मेदारी सौंपी. जहां उन्होंने फिर अपनी काबीलियत साबित की. अब ये कहना गलत नहीं होगा कि कप्तान विराट कोहली भविष्य में केएल राहुल के हाथों में ही ग्लव्स सौंप दें. क्योंकि कप्तान कोहली ने एक बयान में कहा था कि केएल की मौजूदगी टीम में एक अतिरिक्त 


गेंदबाज खेलाने की छूट देती है भारत के सबसे सफल कप्तान हैं धोनी भारतीय क्रिकेट टीम को 3 आईसीसी ट्रॉफी जिताने वाले महेंद्र सिंह धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान हैं. उन्होंने भारत को 2007 टी20 विश्व कप, 2011 एकदिवसीय विश्व कप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी जिताई. एमएस विकेट के पीछे व आगे दोनों ही जगह बेहद आक्रामक रवैया अपनाते हैं.
जब माही विकेट के पीछे होते हैं तो पलक झपकते ही गिल्लियां बिखेरकर बल्लेबाज को पवेलियन का रास्ता दिखा देते हैं. साथ ही वह गेंदबाजों को गाइड करते हैं जिससे उन्हें विकेट निकालने में मदद मिलती है. इसके अलावा जब एमएस बल्लेबाजी के लिए मैदान पर आते हैं तो फिर उनके बड़े-बड़े शॉट्स से दर्शकों का पूरा मनोरंजन होता है.

Post a Comment

0 Comments