भारतीय क्रिकटरों के ऐसे रिकार्ड देखकर आप हो जायेंगे दीवानें

ऐसे कौन-कौन से किर्तीमान है जो भारतीय क्रिकटरों ने बनाए और ये भी लगभग निश्चित है की वो रिकार्ड शायद ही कभी टूटे तो आइए इस एक ही लेख में आपको बताते है उन बेमिसाल रिकार्ड के बारे में सबसे पहले बात करेंगे भारतीय क्रिकेट के भगवान सचिन तेडुंलकर जिन्होने बिना रूके बिना टूटे 10 से ज्यादा पीड़ादायक सर्जरी कराके के 24 साल तक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेली इस दौरान सचिन ने रिकार्ड 200 टेस्ट मैच,रिकार्ड 463 एकदिवसीय मैच और 1 T-20 मैच अपने कैरियर में खेले जिसमें कुल मैच संख्या का जोड़ 664 अंतर्राष्ट्रीय मैच होता है जो कि एक वर्ल्ड रिकार्ड है और शायद ही अब कभी इस रिकार्ड को तोड़ने को दूर आस-पास पहुंचने की भी नहीं सोच सकता क्योंकि अब पहले के मुकाबले खिलाड़ियों का कैरियर छोटा होने लगा है


दूसरा सबसे बड़ा रिकार्ड एक ही पारी में एकदिवसीय मैच यानी 50 ओवर के मैच में 264 रन की एतिहासिक पारी रोहित शर्मा ने खेली इस एतिहासिक पारी के दौरान रोहित ने अविश्वसनीय तरीके से 173 गेंदो पर 264 रन ठोक डाले जिसमें उन्होने 43 बार गेंद को बाउंड्री लाइन से बाहर भेजा रोहित विश्व के एकमात्र ऐसे खिलाड़ी जिन्होने 3 बार दोहरा शतक लगा चूकें हैं ऐसे में कहा जा सकता है रोहित का ये रिकार्ड टूटना नामूमकिन लगता है


अब आपको बताते है 1955 से 1968 तक भारत के लिए खेलने वाले स्पिन गेंदबाज रमेसचंद्र गंगाराम बापू के बारे में जिन्होने इंग्लैड़ के खिलाफ 32 ओवर गेंदबाजी की जिसमें से 27 ओवर उन्होने ने मेंडन फेंके और केवल 5 रन दिए और हैरान करने वाली बात ये कि 27 में 21 ओवर लगातार बापू ने मेंडन फेंके ये एक ऐसा अविश्वसनीय रिकार्ड जो शायद कहें या पक्का लेकिन अब कोई तोड़ नहीं सकता तो कहा जा सकता है बतौर बारतीय क्रिकेट प्रेमी हम सब को अपने किलाड़ियों पर नाज है

Post a Comment

0 Comments