About Me

header ads

जोड़ों के दर्द से छुटकारा पाने के लिए करें इन चीजों का सेवन

आमतौर पर 55-60 की उम्र आते-आते घुटनों और जोड़ों का दर्द की समस्या आने लगती है। डॉक्टर्स दवाओं से यथासंभव इलाज करते हैं, लेकिन फिर भी कई बार राहत नहीं मिलती। इन तकलीफों में आहार और व्यवहार बड़ी भूमिका निभाता है। फिर आपके घर या रसोई में ही कुदरती दवाओं का खजाना है, जिनके औषधीय गुण आप नहीं जानते। इनके प्रयोग से घुटने और जोड़ों के दर्द में काफी राहत मिलती है लालमिर्च में कैप्साइसिन मौजूद होता है जो दर्द निवारक की तरह काम करता है। इसके दर्द से राहत देने वाले गुण गर्माहट पैदा करते हैं

 और घुटनों के दर्द को दूर करते हैं। आधे कप गर्म जैतून के तेल में दो चम्मच लालमिर्च मिलाएं और इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं। यह प्रक्रिया एक सप्ताह तक रोज दिन में दो बार जरूर करें। लाल मिर्च में खूब विटामिन सी होता है जो कोलेजन के उत्पादन में सहायक होता है। कोलेजन हड्डी और मांसपेशियों को एक साथ रखता है हल्दी में मौजूद करक्यूमिन सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है। अध्ययन में पाया गया कि हल्दी का नियमित सेवन वास्तव में ऑस्टियोपोरोसिस और रुमेटोइड आर्थराइटिस के विकास को रोकने में मदद कर सकता है। एक चम्मच हल्दी पाउडर और थोड़ा-सा शहद एक गिलास गर्म दूध से मिलाएं. ध्यान दें खून पतला करने की दवाईयां लेने वालों के लिए यह उपाय उपयुक्त नहीं  है जोड़ों में दर्द और मांसपेशियों के लिए यह असरदार प्राकृतिक उपाय है। इसमें सूजनरोधी गुण होते हैं जो कि दर्द को कम करने के लिए बेहत प्रभावी हैं। एक कप पानी में अदरक के टुकड़ों को दस मिनट के लिए उबलने के लिए रख दें। इस मिश्रण को छानकर इसमें शहद और नीबू मिलाकर पिएं। 

गठिया और जोड़ों के दर्द से जूझ रहे लोगों के लिए लहसुन का सेवन फायदेमंद हो सकता है। इसमें सल्फर और सेलिनियम होता है जो दर्द और सूजन से राहत पहुंचाता है। अपने आहार में कच्चा या पका हुआ लहसुन शामिल कर सकते हैं। रोजाना लहसुन की दो से तीन फाकें लाभकारी हैं। गठिया के कारण जिन्हें घुटनों में दर्द है, वे एक चम्मच मेथी के बीज को रातभर भिगोकर रख दें और सुबह उन्हें खा लें। इसमें एंटीऑक्सिडेंट और सूजनरोधी गुण होते हैं सेब के सिरके का सेवन जोड़ों और उत्तकों में मौजूद विषाक्त पदार्थों को निकालता है। क्षारिय प्रभाव के कारण घुटनों और जोड़ों के दर्द से राहत देता है। जोड़ों में चिकनाई भी लाता है और गतिशीलता को बढ़ाता है। दो कप पानी में दो चम्मच सेब का सिरका डालें और अच्छे से मिलाकर पी लें।  मछली जोड़ों के स्वास्थ्य के लिए एक बढिय़ा विकल्प है। इसमें हड्डियों को मजबूत करने के लिए विटामिन डी और कैल्शियम होता है, साथ ही अच्छी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। अगर मछली पसंद नहीं है तो कैल्शियम और विटामिन डी के लिए कम वसा वाले डेयरी उत्पाद खाएं।

Post a Comment

0 Comments