About Me

header ads

3 कैच जिनकी वजह से भारतीय क्रिकेट की बदल गयी थी तस्वीर,जानें

भारत और पाकिस्तान विश्व क्रिकेट की जानी मानी और पुरानी टीम है और साथ में विश्व क्रिकेट के इतिहास में एक दूसरे की घोर विरोधी टीम है। अगर हम दोनों टीम के क्रिकेट करियर की बात करें तो दोनों टीमों का करियर काफी सफल और यादगार रहा है अगर हम भारतीय क्रिकेट टीम की बात करें तो दो बार विश्वकप पर कब्जा जमा चुकी है वहीं पाकिस्तान की टीम एक बार ही विश्व कप जीत पाई है। लेकिन अगर आपने 2007 का भारत और पाकिस्तान के बीच में T20 का फाइनल मैच देखा है तो आपको जरूर याद होगा मैच के आखिरी ओवर में जब मिस्बाह उल हक जब गेंद को विकेट के पीछे मारने का प्रयास किया था तब सुशांत ने क्या शानदार कैच पकड़ा था जिसकी बदौलत भारत ने पाकिस्तान को T20 के फाइनल में हराकर विश्व कप पर कब्जा जमा लिया था या ऐसा कैच था जिसने भारत के क्रिकेट की तस्वीर बदल दी थी।


भारत और दक्षिण अफ्रीका दुनिया की पुरानी और मजबूत टीम मानी जाती है और साथ में इनकी गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टीमों में की जाती है। अगर दोनों टीमों के करियर की बात करें तो उनका करियर ही काफी शानदार और यादगार रहा है। जहां एक तरफ भारतीय क्रिकेट टीम ने दो बार विश्व कप अपने नाम दर्ज कर लिया है वहीं दक्षिण अफ्रीका का टीम एक बार भी विश्व कप जीत नहीं पाई है। लेकिन बहुत कम लोगों को मालूम होगा 


कि भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 2002 में सेमीफाइनल में जब लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीम भारत स्कोर इस मैच में हरा सकती है तभी एक ऐसा कैच युवराज सिंह ने पकड़ा की मैच का पूरा पासा ही पलट गया। उन्होंने ड्राइव करके कर जोंटी रोड्स का कैच पकड़ कर मैच का रुख ही बता दिया था जिसके कारण भारत यह मैंच जीत गया था। भारत और वेस्टइंडीज विश्व क्रिकेट की जानी मानी और मजबूती मानी जाती है और साथ में इनकी गिनती दुनिया के पुराने टीमों में की जाती है अगर हम दोनों टीमों के करियर की बात करें तो इनका करियर काफी शानदार और सफल रहा था। जहां भारत में दो बार विश्व कप पर कब्जा जमाया है वहीं वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम ने भी दो बार विश्वकप को अपने नाम पर दर्ज किया है लेकिन बहुत कम लोगों को मालूम होगा कि 1983 में वर्ल्ड कप के फाइनल में जय भारतीय क्रिकेट टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 183 रनों का स्कोर बनाया था तो लग रहा था कि भारत यह मैच वेस्टइंडीज से हार जाएगा इसका कारण यह था कि उस जमाने में वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम की बैटिंग लाइन काफी तगड़ी मानी जाती थी लेकिन तभी भारत ने अपने घातक गेंदबाजी के बल पर वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम को 170 रन पर पूरी टीम को पवेलियन भेज दिया था। भारत ने वेस्टइंडीज को हराकर इतिहास रच दिया था और साथ में भारत एशिया का पहला ऐसा देश था जिसने वर्ल्ड कप को अपने नाम पर दर्ज किया था जो अपने आप में विश्व कीर्तिमान रिकॉर्ड था।

Post a Comment

0 Comments