About Me

header ads

फांसी की सज़ा देने के बाद जज क्यो तोड़ देता है पेन ,जानिए वजह

हमारे देश में फांसी से बड़ी और कोई सज़ा नहीं है, वैसे देखा जाए तो किसी जघन्य अपराध करने वाले आरोपी को फांसी की सज़ा सुनाई जाती है. पर क्या आप जानते है की जज किसी को फांसी की सज़ा देने के बाद अपने पेन की निब को क्यों तोड़ देते है, यदि आपको नहीं पता तो चलिए जानते है क्यूंकि यह बेहद ही गहरा  राज है जज फांसी की सज़ा सुनाने के बाद इसीलिए पेन की निब तोड़ देते है की दोबारा ऐसा अपराध बिलकुल ना हो और इसका दूसरा भी एक मतलब होता है की इस सज़ा के बाद उस व्यक्ति का जीवन पूरी तरह से समाप्त हो जाता है इसीलिए पेन की निब को तोड़ दिया है 


आपको बतादें की जज ऐसा मानते है की जिस किसी अपराधी को फांसी की सजा दी है वो अपराधी की सजा का अंतिम निर्णय होता है और बाद में कभी ऐसी सज़ा ना सुनानी पड़े इसलिए वो इस पेन की निब को तोड़ देता है 
जज  की हम जानते है की फांसी की सजा का फैसला सबसे अंतिम फैसला होता है और इसके बाद इसकी प्रतिक्रिया को बदला नहीं जा सकता इसीलिए भी जज पेन की निब को तोड़ देते है.


तो अब आप समज गये होंगे की जज किसी अपराधी को फांसी की सज़ा देने के बाद पेन की निब क्यों तोड़ देते है.

Post a Comment

0 Comments