About Me

header ads

इस प्रकार से भारतीय लड़कियां भी बन सकती हैं लडको के साथ वायुसेना में अधिकारी जानें कैसे करें आवेदन

भारतीय सेना में शामिल होकर राष्ट्र सेवा का अवसर पाना गौरव की बात है। इसके लिए अभ्यर्थियों को एक मजबूत इच्छाशक्ति और रणनीति के साथ परीक्षा की तैयारी की आवश्यकता होती है। यदि आप भी वायु, थल व जल सेना में शामिल होकर राष्ट्र के प्रति समर्पित होना चाहते हैं, तो ये लेख आपके लिए है। आज हम आपको इस वर्ष होने वाली AFCAT, NDA, CDS और CAPF प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के बारे में बताएंगे।


 एन डी ए-
 तीनों सेनाओं के अधिकारी बनने का ख्वाब पूरा होगा एनडीए कैप्सूल कोर्स

 यूपीएसई वर्ष में दो बार एनडीए परीक्षा का आयोजन करता है। NDA के माध्यम से आप तीनों सेनाओं में सर्वोच्च अधिकारी बनने और देश के प्रति समर्पित समर्पित सेवा करने का सपना पूरा कर सकते हैं। कोरोना के तहत इस साल एनडीए / एनए (1) और एनडीए / एनए (2) की परीक्षा 6 सितंबर 2020 को होनी है। लिखित परीक्षा में सफलता पाने के बाद अभ्यर्थियों का इंटेलिजेंस और पर्सनैलिटी टेस्ट होता है, जिसे सेवा सलेक्शन बोर्ड (एसएसबी) लेता है।

 भारतीय मिलिट्री एकेडमी और वजीफा-



 तीनों सेनाओं के लिए चयनित उम्मीदवारों को राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में तीन साल का शैक्षणिक और शारीरिक प्रशिक्षण दिया जाता है। नेशनल डिफेंस एकेडमी एक इंटर-सर्विस इंस्टीट्यूशन है। ढाई साल तक तीनों सेनाओं के कैडट का प्रशिक्षण कॉमन होता है।

नेशनल डिफेंस एकेडमी से पासआउट होने पर, अरमी कैडेट्स इंडियन मिलिट्री एकेडमी, देहरादून और नेवी कैडेट्स इंडियन नेवल एकेडमी एज़िअला और एयरफोर्स कैडेट्स एयरफोर्स कीेडमी, हैदराबाद जाते हैं। भारतीय मिलिट्री एकेडमी (IMA) से प्रशिक्षण के दौरान जेंटलमैन कैडेट को 21,000 रुपये का वजीफा मिलता है। एनडीए के दोनों पेपर ढाई-ढाई घंटे के होते हैं। पहला अंक 300 नंबर और दूसरा पेपर 600 नंबर का होता है।

अभ्यर्थियों को लिखित परिक्षा को पास करने के लिए विषयों की सम्पूर्ण जानकारी के साथ साथ समय प्रबंधन, एक्यूरेसी, का भी ध्यान देना चाहिए। शारीरिक व मानसिक रूप से भी आपको तैयार होने की आवश्यकता होती है।

 Safalta.com इस परीक्षा की तैयारी के लिए सर्वश्रेष्ठ प्लेटफॉर्म है जिसके 75 दिन के कैप्सूल कोर्स और 200 घंटे से ज्यादा की ऑफलाइन यात्राओं के जरिए आप इस प्रवेश परीक्षा में सफलता पा सकते हैं। इस परीक्षा की तैयारी के लिए नए बार की शुरुआत 29 जून से हो रही है। इस कोर्स की कीमत 6,999 रुपये है।

 AFCAT-


 यदि आप वायु सेना का हिस्सा बनना चाहते हैं या वायु सेना को पायलट के तौर पर जवावाइन करना चाहते हैं तो एएफसीएटी आपके लिए है। इस साल वायु सेना कॉमन एडमिशन टेस्ट (AFCAT) की परीक्षा 19 और 20 सितंबर को है। योग्य अभ्यर्थी इस परीक्षा के लिए 14 जुलाई तक आवेदन कर सकते हैं।

 वायुसेना में मिलने वाले भट्ट व वजीफा-



 वायुसेना में अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण के दौरान मासिक वजीफा मिलने शुरू हो जाता है। अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण के अंतिम वर्ष प्रति माह 56,100 रुपये का वजीफा मिलता है। जब अभ्यर्थियों को फ्लाइंग ऑफिसर के तौर पर मान्यता मिलती है, तो उन्हें विभिन्न भट्ट मिलते हैं। इनमें परिवहन, बाल शिक्षा और एचआर भट्ट शामिल है। उड़ान और तकनीकी शाखाओं में नए कमीशन अधिकारियों को उड़ान भट्टा और तकनीकी भत्ता भी मिलता है।


 लड़कियां भी बन सकती हैं वायुसेना अधिकारी-



 उल्लेखनीय है कि लड़कियां भी एएफसीएटी परीक्षा के माध्यम से भारतीय वायुसेना में अधिकारी बन सकती हैं। उड़ान और तकनीकी किसी भी ब्रांच में वायुसेना अधिकारी बन सकते हैं। AFCAT परीक्षा में सफलता पाकर तकनीकी और नॉन टेक्निकल विभाग में वायुसेना अधिकारी बन सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments