शरीर के हर हिस्से की चर्बी घटाने के लिए करना चाहिए बर्फ का इस्तेमाल ,और भी होते है जबरदस्त फायदे ,जानिए

मोटापे से परेशान लोग अपना वजन घटाने के लिए कई तरह की डाइट्स, एक्सरसाइज और दवाएं ट्राई करते है लेकिन तब जाकर भी कोई फर्क न नजर आए तो सिर्फ निराशा ही हाथ लगती है। अगर आप बिना पसीना बहाए और बिना की स्पैशल डाइट अपना वजन घटाना चाहते हैं तो आज हम आपको सबसे आसान व कारगर तरीका बताने जा रहे हैं जिससे आपको वजन घटाने में काफी मदद मिलेगी। 
क्या आप आइस थेरेपी के बारे में जानते हैं? दुनिया के कई देशों में वजन घटाने के लिए आइस थेरेपी काफी पॉपुलर हो रही है। जी हां, आइस थेरेपी एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें बर्फ को रगड़कर आप शरीर के कुछ खास हिस्सो में जमा चर्बी को कम किया जा सकता है। दरअसल बर्फ त्वचा के टिशूज को ट्राई करती है, जिससे उसमें जमा फैट बर्न होकर समाप्त हो जाता है और व्यक्ति का वजन घटने लगता है।


एक रिसर्च के मानें तो शरीर के कुछ खास हिस्सों पर बर्फ रगड़ने से वहां की चर्बी धीरे-धीरे बर्न होने लगती हैं। बर्फ वहां के स्किन टिशूज को सिकोड़ती है, जिससे चर्बी खुद ब खुद कम होने लगती है 
याद रखें कि आपको बर्फ को त्वचा पर सीधे नहीं रगड़ना है बल्कि बर्फ को किसी कपड़े, जेल पैक या तौलिए में भरकर बांध कर रगड़े। बर्फ को उस हिस्से में ज्यादा रगड़ें जहां आपको अपनी त्वचा लटकती हुई दिख रही है।
अगर आप अच्छा रिजल्ट चाहते है तो आइस थेरेपी के साथ डाइट व एक्सरसाइज का भी ध्यान रखें। रोजाना 30-40 मिनट तेज गति से एक्सरसाइज करें, बैलेंस डाइट लें। इस रुल के साथ चलेंगे तो 2 सप्ताह में आप 2-3 किलो तक अपना वजन घटा सकता है
डिलीवरी के बाद या अन्य किसी कारण महिलाओं के पेट या जांघों पर स्ट्रेच मार्क्स नजर आने लगते हैं जो क्रीम या अन्य तरीकों के इस्तेमाल से भी जाने का नाम नहीं लेते है लेकिन इनको ठीक करने के लिए बर्फ को रगड़ना सबसे अच्छा तरीका है। इसका कारण यही है कि बर्फ के रगड़ने से टिशूज सिकड़ जाते हैं और स्ट्रेच मार्क्स हट जाते हैं।
शरीर के कुछ हिस्सों पर जैसे हाथों, जांघों, पेट या चेहरे पर फैट ज्यादा जमा होने के कारण त्वचा लटक जाती हैं। ऐसे में लगातार बर्फ की सिंकाई करने से लटकी हुई त्वचा धीरे-धीरे ठीक होने लगती है। 


अधिकतर महिलाओं को सेल्युलाइट की समस्या रहती हैं जिसमें शरीर के कुछ हिस्सों पर स्किन की गांठे नजर आने लगती हैं जो देखने में काफी भद्दी लगती हैं। बर्फ रगड़ने से त्वचा में मौजूद टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते हैं जिससे सेल्युलाइट की समस्या दूर होती हैं और चर्बी भी घटी हुई नजर आने लगती है। 
अगर बिना किसी वजह से त्वचा पर सूजन आ जाए तो उसे कम करने के लिए भी बर्फ काफी कारगर है। जिस जगह पर सूजन हो, वहां बर्फ को हल्के हाथों से लगाएं। ऐसा करने से कुछ ही देर में सूजन कम हो जाएगी। 
काम के ज्यादा प्रेशर या ज्यादा समय तक कंप्यूटर के सामने बैठे रहने के कारण अक्सर लोगों को सिरदर्द की परेशानी रहती हैं। ऐसे में मेडिसिन या पेनकिलर लेने के बजाए सिर्फ बर्फ का एक टुकड़ा लेकर माथे या फेंग फू प्‍वाइंट पर रगड़ने से मिनटों में सिर दर्द की छुट्टी हो जाएगी।
वैसे तो पीएमएस के लक्षणों को कम करने के लिए बहुत सारी दवाएं उपलब्‍ध हैं लेकिन इस आइस थेरेपी के जरिए भी इसको कंट्रोल में किया जा सकता है। कहा जाता है कि फेंग फू यानी आइस थेरेपी का महिला के पीरियड्स के साथ सीधा संबंध होता है। यही कारण है कि यह पीएमएस के लक्षणों को कम करने में हेल्‍प करता है।


थायरॉयड दवाओं के साथ-साथ आइस थेरेपी लेने से आप इस बीमारी से तेजी से लड़ और जल्‍द ही ठीक हो सकते है। थायरॉयड कई तरह की हेल्‍थ प्रॉब्‍लम्‍स का कारण बनता है इसलिए इस बीमारी को कंट्रोल करने के लिए रोजाना बर्फ से फेंग फू प्‍वाइंट पर सिंकाई करें। 
जब त्वचा के पोर्स खुलकर बढ़ जाते हैं तो उनमें गंदगी ज्यादा जमा हो जाती है। ऐसे में बर्ख रगड़ने से आपको काफी फायदा मिलेगा। रोज कपड़े में बर्फ का एक टुकड़ा लेकर त्वचा पर रगड़ें, इससे चेहरे में कसावट आएगी और खुले पोर्स बंद हो जाएंगे
पिंपल्स की समस्या बहुत ही आम है जिससे अधिकतर लोगों को दो-चार होना पड़ता है। पिंपल्स हो जाने पर जलन, खुजली होना सामान्य बात है। कई बार तो दाग इतने गहरे होते हैं कि लंबे समय तक नहीं जाते है। ऐसे में पिंपल्स पर बर्फ रगड़े। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में इस समस्या को दूर किया जा सकता है। 

Post a Comment

0 Comments