10 खिलाड़ियों को कोरोना वायरस  टेस्ट पॉजिटिव आया है. पीसीबी की इस जानकारी के बाद हड़कंप मच गया था. हालांकि, इसके अगले ही दिन पाकिस्तानी खिलाड़ी मोहम्मद हाफिज ने बोर्ड की पोल खोलते हुए कहा था कि उन्होंने अपना कोरोना वायरस टेस्ट करवाया था, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है. लेकिन, लगता है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शायद कोरोना वायरस जैसी महामारी को मचाक बनाकर रख दिया है क्योंकि अब उसने ऐलान किया है कि जिन 10 खिलाड़ियों ने कोरोना वायरस के लिए सकारात्मक परिक्षण किया था, उनमें से अब 6 खिलाड़ियों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है. राहत की बात यह है कि पहले जिन खिलाड़ियों की रिपोर्ट निगेटिव आई थी उनकी रिपोर्ट एक बार फिर निगेटिव आई है.


पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शानिवार को बताया कि मोहम्मद हफीज, वहाब रियाज, फखर जमान, शादाब खान, मोहम्मद रिजवान और मोहम्मद हसनैन का जब दूसरी बार कोरोना वायरस टेस्ट किया तो इन खिलाड़ियों की रिपोर्ट निगेटिव आई है. हालांकि, यह खिलाड़ी अभी भी उस पाकिस्तानी टीम का हिस्सा नहीं बन पाएंगे जो इंग्लैंड दौरे पर रविवार को रवाना होगी. इन खिलाड़ियों को यूके में तभी एंट्री मिलेगी जब इनकी कोरोना की दो रिपोर्ट निगेटिव आएगी.
वहीं दूसरी तरफ हाफिज और रियाज ने कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद जब एक प्राइवेट लैब में अपनी दोबारा जांच कराई तो उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई लेकिन पीसीबी ने इन रिपोर्ट को मानने से मना कर दिया है. दरअसल, कोरोना वायरस की टेस्टिंग किट की कमियों के कारण कभी किसी का कोरोना वायरस टेस्ट निगेटिव आता है तो कभी पॉजिटिव. ऐसे में ज्यादातक देश RT-PCR टेस्ट का साहार ले रहे हैं जिसमें गलती को ज्यादा गुंजाईश नहीं होती और रिपोर्ट सही आती है.