About Me

header ads

धोनी ,कोहली और रोहित की कप्तानी में क्या है अंतर, जानकर आपको नहीं होगा यकीन ,जानिए

विकेटकीपर-बल्लेबाज पार्थिव पटेल का मानना है कि विराट कोहली जब राष्ट्रीय टीम की कप्तानी करते हैं तो वह आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स की कप्तानी करने की तुलना में ज्यादा आक्रामक रहते हैं। पटेल, दोनों टीम में कोहली के साथ खेल चुके हैं। उन्होंने कोहली की कप्तानी की तकनीक के बारे में बात की।
पटेल ने आकाश चोपड़ा के शो आकाशवाणी पर कहा, "कई बार कप्तान का आक्रामक व्यवहार इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी टीम में कैसे खिलाड़ी हैं। इसलिए जब आप विराट को भारतीय टीम की कप्तानी करते हुए देखते हो तो वे अलग कप्तान दिखते हैं। उनके पास बुमराह, शमी और अच्छे स्पिनर हैं, इसलिए वो लगातार विकेट के बारे में सोचते रहते हैं।"


उन्होंने कहा, "बेंगलोर के लिए उनकी कोशिश रहती है कि टीम अपनी काबिलियत के हिसाब से खेले। साथ ही जहां टीम खेल रही है वो भी काफी मायने रखता है। अगर आपको विकेट से मदद नहीं मिल रही ह,ै तो आप डिफेंसिव हो जाते हैं।"
उन्होंने कहा, "उदाहरण के लिए अगर हम किसी टीम को 180-190 तक सीमित कर देते हैं तो हम मैच जीतने की कोशिश कर सकते हैं, लेकिन अगर हम आक्रामक होकर 220 रन बनावा देते हैं तो हम मैच से बाहर हैं।"
बाएं हाथ के बल्लेबाज ने कहा, "इसलिए मुझे लगता है कि कोहली भारत की कप्तानी करते समय बेंगलोर की कप्तानी की तुलना में ज्यादा आक्रामक रहते हैं।"
पटेल, कोहली के अलावा महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा की कप्तानी में भी खेल चुके हैं।
इन तीनों की कप्तानी को लेकर पटेल ने कहा, "धोनी जानते हैं कि खिलाड़ी की क्या काबिलियत है औ वह उसे बाहर निकालते हैं। वह उन्हें अपनी शैली में खेलने देते हैं, और खिलाड़ी को अपना खेल खेलने की जगह देते हैं।"
रोहित को लेकर पटेल ने कहा, "रोहित बहुत अच्छे से रणनीति बनाते हैं। वह जानते हैं कि जो जानकारी उन्हें दी गई है उसका उपयोग कैसे करना है और किसी खिलाड़ी को कौनसे रोल में उपयोग किया जा सकता है- वह इसके मास्टर हैं। बीते वर्षों में उन्होंने काफी सुधार किया है। मैन-मैनेजमेंट में धोनी और रोहित बेहद अच्छे हैं।"

Post a Comment

0 Comments