About Me

header ads

भारतीय बैज्ञानिको की इस तकनीक से सहमा पूरा संसार जाने इस टेक्निकल हथियार की खूबियां



टारपीडो_डिकोय_सिस्टम :#मारीचचर्चा में क्यों:-
हाल ही में उन्नत टारपीडो डिकोय सिस्टम ‘मारीच’ को नौसैनिक बेड़े में शामिल कर लिया गया है। मारीच उन्नत टारपीडो प्रणाली किसी भी टॉर्पीडो हमले को विफल करने में नौसेना की मदद करेगी।



क्या_है_मारीच?

इस एंटी टारपीडो डिकोय सिस्टम मारीच का डिज़ाइन और विकास स्वदेशी डीआरडीओ प्रयोगशालाओं (एनएसटीएल और एनपीओएल) में किया गया है।

टारपीडो का पता लगाने और टॉर्पीडो हमले को विफल के लिए यह एक अत्याधुनिक स्वदेशी प्रणाली है.
टारपीडो हमले के विरुद्ध यह प्रणाली किसी भी नौसेना की रक्षा उपायों को लागू करने में सहयोग प्रदान करने में सक्षम होगा।

यह प्रणाली आने वाले टारपीडो का पता लगाने, हटाने,भ्रमित करने और नष्ट करने में सक्षम है.
दुश्मन की लोकेशन मिलते ही मारीच को लॉन्च कर दिया जाता है जिसके उपरान्त यह लगातार अपनी स्थिति बदलते हुए रॉकेट लॉन्च करता रहता है।

मारीच उन्नत टारपीडो प्रणाली में कुल 10 रॉकेट लॉन्चर हैं। जहाँ मारीच से निकलने वाली किरणें दुश्मन को गुमराह करती हैं वहीँ दूसरी ओर सबमरीन अपनी लोकेशन बदलकर दुश्मन की सबमरीन को टारगेट कर लेती है।

सार्वजनिक क्षेत्र का रक्षा उपक्रम भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड इस डिकॉय सिस्टम के उत्पादन का कार्य करेगा

Post a Comment

0 Comments