कम बोलने वाले लोगों में होती है ये खाशियत ,जानिए

इस दुनिया में कुछ लोग ऐसे होते हैं तो बहुत बोलना पसंद करते हैं। और कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो जरूरत के अनुसार ही बोलते हैं। आज हम आपको उन्हीं लोगों की खासियत के बारे में जानकारी देने की कोशिश करेंगे। ये लोग ज्यादा नहीं बोलते इस कारण अन्य लोग इन्हें शर्मिला, और कम बुद्धि समझने की भूल कर बैठते हैं। ये लोग हमेशा बोलने से ज्यादा सुनना पसंद करते हैं। जो लोग कम बोलते हैं ये ज्यादातर सुनना और सोचने का 


काम ज्यादा करते हैं। ये हमेशा ही कुछ विषय में सोचते रहते हैं। कभी कभी तो ये इतना सोचते हैं कि सोचते-सोचते सो ही जाते हैं। और कभी इन्हें सोच के कारण नींद ही नहीं आती। इन्हें बोलना नहीं आता ऐसा नहीं है ये जब बोलते हैं तो बहुत ही अच्छे तरीके से बोलते हैं।


ऐसे लोग हमेशा कुछ न कुछ नया सिखते रहते हैं। ये तरह तरह की जानकारी इकट्ठा करते रहते हैं। ये किताब पढ़कर इन्टरनेट पर तरह तरह की चीजों को जानकर नया कुछ सिखते रहते हैं कम बोलने वाले लोगों के दोस्त बहुत कम ही होते हैं। ये अपनी मन की बातें ज्यादा लोगों से शेयर नहीं करते। ये लोगों पर ज्यादा विश्वास भी नहीं कर पाते हैं। लेकिन जिन लोगों को वो अपना दोस्त बना लेते हैं उनके लिए कुछ भी कर जाते हैं।इसी प्रकार ये ज्यादातर अकेले ही रहना पसंद करते हैं। लेकिन अगर किसी रिलेशनशिप में आ गए तो उसे पूरी इमानदारी से निभाया करते हैं  इनके सामने अगर कोई झूठ बोलेे या बढ़ा चढ़ा कर बोले तो ये समझ जाते हैं। ये लोगों के झूठ को आसानी से पकड़ लेते हैं लेकिन ये सामने वाले व्यक्ति को महसूस नहीं होने देते। ये लोगों के मन और दिमाग को पढ़ना जानते हैं।

Post a Comment

0 Comments