About Me

header ads

सिर में होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खें

ब्रेन ट्यूमर एक ऐसी बीमारी है जो कुछ मरीजों को शुरूआत में ही मालूम चल जाती है जबकि कुछ मरीजों को इसके लक्षण पता नहीं चल पाते. यह स्थिति आमतौर पर खतरनाक हो सकती है. यही कारण है कि ब्रेन ट्यूमर के लक्षणों और इसके उपचार के बारे में हमें जानना चाहिए. 


कुछ अध्ययनों से पता चला है कि ब्रेन ट्यूमर किसी भी उम्र में हो सकता है और इसके होने का कोई स्पष्ट कारण अबतक नहीं मालूम चल सका है. हालांकि, कुछ रिसर्च के मुताबिक यह निम्नलिखित कारणों से भी हो सकता है. आइये जानते हैं...
1 मोबाइल की लत
2 अनिद्रा के शिकार
3 मोबाइल टावरों से निकलने वाले रेडिएशन
4 प्रदूषण, आदि.


मस्तिष्क की कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ती है और गांठ का रूप लेती है. इसी अवस्था को ब्रेन ट्यूमर या मस्तिष्क कैंसर कहते हैं. अगर इसका सही समय पर ईलाज नहीं किया जाए तो यह ट्यूमर बढ़कर परिपक्व हो जाता है. जो शरीर के अन्य फंक्शन को भी नुकसान पहुंचाने लगता है. यह ट्यूमर कई प्रकार के हो सकते हैं. अंग्रेजी वेबसाइट हेल्थलाइन के अनुसार मस्तिष्क ट्यूमर अगर शरीर के अन्य हिस्सों से शुरू होकर मस्तिष्क में फैल जाता है तो इसे मेटास्टैटिक ब्रेन ट्यूमर कहा जाता है. जबकि जो ट्यूमर मस्तिष्क में ही बनता है उसे प्राथमिक मस्तिष्क ट्यूमर कहा जाता है.

Post a Comment

0 Comments