About Me

header ads

अगर आपको दिखने लगे ये लक्षण तो जान ले ये बातें होने लगा है लिवर खराब ,जानें

कहा जाता हैं कि अगर व्यक्ति अपने शरीर का ध्यान न रखे तो उसका शरीर बीमारयों का घर बन जाता है। इसलिए आज के समय में हर व्यक्ति को अपने शरीर का खास ध्यान रखना चाहिए। आज हम शरीर के बेहद महत्वपूर्ण अंग लीवर के बारे में बात करने जा रहे है।  हमारे देश में बहुत से लोग हैं जिन्‍हें लिवर की समस्‍या है किन्‍तु उनका इलाज ठीक से नहीं हो पाता। लिवर की बीमारी ज्‍यादातर उन्‍हीं को होती है जो मोटे होते हैं या फिर शराब का सेवन अधिक करते हैं। आज के जमाने में लिवर का रोग अब बुजुर्गों तक सीमित नहीं रह गया है बल्‍कि यह अब कम उम्र के लोगों में भी होने लगा है। ये बहुत ही कम लोग जानते हैं कि लिवर जब 80% तक डैमेज हो चुका होता है तब जा कर इसके लक्षण दिखाई देने शुरू होते हैं। यदिआप इन लक्षणों को सही समय पर पहचान लेगें तो आप अपनी जान बचा सकते हैं। तो आये जानते हैं...


मुँह से बदबू आना: जब लीवर खराब होता है, तो ऐसे में हमारे मुँह से अजीब सी दुर्गंध आने लगती है। जिसका मुख्य कारण मुँह में अमोनिया का ज्यादा रिसना है। 
पेट खराब होना: इसका बुरा असर पेट पर भी पड़ सकता है। यदि आपके पेट के निचले हिस्‍से में सूजन आती हुई दिखाई दे रही है तो यह लिवर में खराबी होने का संकेत हो सकता है। जी  हां लीवर खराब होने से पेट में खाना भी अच्छे से नहीं पचता. इससे पेट में गैस, एसिडिटी और कब्ज आदि की समस्या भी हो सकती है। 

दिमाग पर असर पड़ना: जब हमारे लीवर में कोई खराबी हो जाती है, इससे लीवर खून को साफ़ नहीं कर पाता। ऐसे में हमारे शरीर में कई तरह के विषैले तत्व जमा होने लगते है। जो खून के द्वारा हमारे दिमाग तक पहुँचने लगते है। इससे आपकी याददाश्त कमजोर हो सकती है या आप किसी भी निर्णय को लेने में असमर्थ महसूस कर सकते है।
आंखों में पीलापन आना: लिवर खराब होने के लक्षण में सबसे पहले आंखों, त्‍वचा और नाखूनों का रंग पीला पड़ने लगता है। अगर आपके लीवर में कोई खराबी हो जाएँ तो इससे आँखों का सफेद भाग पीला होने लगता है।  यही नहीं इसके साथ पेशाब का रंग भी पीला हो जाता है। यह बाइल जूस के अत्‍यधिक प्रोडक्‍शन की वजह से होता है।  

शारीरिक कमजोरी। गौरतलब है कि अगर हमारे लीवर में किसी भी तरह का इन्फेक्शन यानि खराबी होती है तो इससे हमारे शरीर के अंदरूनी अंग ठीक तरीके से काम नहीं कर पाते। जिसके कारण व्यक्ति को काफी आलस्य और कमजोरी सी महसूस होती है। जी हां ऐसे में व्यक्ति का मन किसी भी काम में नहीं लगता।

Post a Comment

0 Comments