About Me

header ads

इन 5 क्रिकेट के रिकॉर्ड टूटना मुश्किल ही नहीं है नामुमकिन,नाम जानकर आपके उड़ जायेंगे होश

क्रिकेट की दुनिया में आए दिन कुछ नए रिकॉर्ड्स बनते हैं तो कई टूटते भी हैं। जी हां, जब भी कोई खिलाड़ी क्रिकेट के मैदान पर उतरता है तो कोई ना कोई रिकॉर्ड तो टूटने की कगार पर होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि विश्व क्रिकेट में कुछ ऐसे रिकॉर्ड काबिज हैं जिन्हें बनाने के बाद से वह आज तक बने हुए हैं।



विश्व क्रिकेट में कई ऐसे रिकॉर्ड्स के बारे में बताते हैं जिनका टूट पाना अब मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है। अब आप सोच रहे होंगे कि भला ऐसे कौन से रिकॉर्ड्स हो सकते हैं जिन्हें कोई तोड़ नहीं सकता।
तो आइए ऐसे रोचक और बड़े रिकॉर्ड्स के बारे में बताते हैं जिन्हें आज तक ना तो कोई तोड़ सका है और ना ही आगे टूटने की उम्मीद नजर आती दिख रही है।


इस लिस्ट में पहला नाम टीम इंडिया की आन बान शान सचिन तेंदुलकर का आता है। कहने को तो क्रिकेट का हर एक रिकॉर्ड सचिन के नाम पर ही दर्ज है, लेकिन एक कीर्तिमान ऐसा भी है जो शायद ही कोई तोड़ आगे बढ़ सके।
दरअसल, सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में कुल 200 टेस्ट खेले और दुनिया के पहले ऐसे खिलाड़ी बने, जिन्होंने यह नायाब कीर्तिमान स्थापित किया। सचिन का यह रिकॉर्ड शायद ही आने वाले समय कोई खिलाड़ी तोड़ सके। इसके पीछे की एकमात्र वजह मौजूदा समय में टी20 क्रिकेट का आना भी है और पहले के मुताबिक आज के दौरे में टेस्ट मैच भी कम खेले जाते हैं।



मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने 200 टेस्ट मैच खेले और 329 पारियों में 53.79 की शानदार औसत के साथ 15921 रन बनाए। इस दौरान उनके बल्ले से कुल 51 शतक और 68 अर्द्धशतक भी देखने को मिले। सचिन का यह रिकॉर्ड शायद ही कभी टूट पाए।

Post a Comment

0 Comments