कैप्टन कूल के नाम से मशहूर भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 2019 के वर्ल्ड कप के बाद से ही टीम से बाहर चल रहे हैं। धोनी को इंटरनेशनल मैच खेले लगभग 1 साल हो गए हैं। वर्तमान में महामारी कोविड 19 नमक कोरोना वायरस की वजह से पूरा का पूरा खेल जगत प्रभावित है। हालांकि कुछ देशों ने कुछ खेल शुरू कर दिए हैं। लेकिन अब इस महामारी के चलते कितने दिनों तक खेल नहीं खेला जाएगा? इस प्रश्न का उत्तर अभी तो किसी के पास नहीं है। हालंकि कैप्टन कूल धोनी 2 जुलाई से अपनी ऑनलाइन कोचिंग शुरू करेंगे।


महेंद्र सिंह धोनी 2 जुलाई को ऑनलाइन क्रिकेट एकैडमी लॉन्च करेंगे। इस ऑनलाइन क्रिकेट एकेडमी के तहत हजारों युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस काम के लिए 200 कोच की नियुक्ति भी की जा चुकी है। दो जुलाई से खिलाड़ियों के लिए कोचिंग शुरू होने जा रही है। साउथ अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर डेरिक कलिनन उनकी इस योजना के डायरेक्टर बनाए गए हैं। सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी धोनी की यह ऑनलाइन क्रिकेट एकेडमी युवाओं को क्रिकेट की बारीकियां सिखाएगी।


हम सभी जानते है कि महामारी‌ कोरोन वायरस की वजह से आईपीएल 2020 भी अभी तक नहीं हो सका है। अगर आज ये महामारी ना फैली होती तो हम सभी धोनी को आईपीएल में खेलते देख पाते। अब तक शायद वह (धोनी) सीनियर टीम में वापसी भी कर चुके होते। लेकिन कोरोना की वजह से सब कुछ रुक सा गया है। इस रुके हुए दौर को पटरी पर लाने के लिए ही धोनी ऑनलाइन क्रिकेट अकेडमी लॉन्च कर रहे हैं। अगर धोनी के कोचिंग एक्सपीरिएंस की बात करें तो धोनी के पास अभी कोच के रूप में खूब खास अनुभव नहीं है। हालांकि उन्होंने 2017 में दुबई में अपनी क्रिकेट अकेडमी खोली थी लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट की बाध्यताओं की वजह से वो इसको ज्यादा समय नहीं दे पाए थे। उनकी एकैडमी पिछली साल बंद कर दी गई थी। इसके अलावा चेन्नई सुपर किंग्स के उनके साथी क्रिकेटर रविचंद्रन अश्विन की एकैडमी भी पिछले साल बंद हो गई थी।
सबको उम्मीद है कि जल्द से जल्द इंटरनेशनल मैच शुरू हो। उधर बीसीसीआई की तरफ से भी संकेत मिल रहें हैं कि अगर साल के अंत तक कोरोना की‌ स्थिति सामान्य हो जाती है तो संभव है कि बीसीसीआई आईपीएल करा दे।