भुवनेश्वर कुमार ने 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी को लेकर दिया बड़ा बयान,जानिए

भुवनेश्वर कुमार ने 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल मैच के बारे में प्रतिक्रिया दी है। भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि मैच में जसप्रीत बुमराह की नो बॉल के बाद स्थिति बदल गई। भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि मुकाबला एकतरफा हो गया था और हार के निश्चित कारण के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है।
ईएसपीएनक्रिकइन्फो के एक शॉ में बातचीत करते हुए भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि जसप्रीत बुमराह की नो बॉल के बाद स्थिति बदल गई। ऐसा नहीं है कि हम बिना संघर्ष किये हार गए लेकिन यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी
पाकिस्तान के खिलाफ हुए फाइनल मैच में पराजय के कारण पर बात करते हुए भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि यह एकतरफा थी लेकिन हार का निश्चित कारण बताना काफी मुश्किल काम है।


भुवनेश्वर कुमार ने यह भी कहा कि 2013 में हमने चैम्पियंस ट्रॉफी का ख़िताब जीता था। उसके बाद तीन या चार आईसीसी टूर्नामेंट हुए जिनमें हम सेमीफाइनल या फाइनल तक पहुंचे। 2015 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में हम ऑस्ट्रेलिया से हारे और 2019 वर्ल्ड कप में भी किस्मत खराब थी। तीन टॉप बल्लेबाजों के जल्दी आउट होने से हम उस मैच में हार गए। विपक्षी टीम को 250 रन पर रोकने के बाद ऐसा बहुत कम बार होता है। हमने इन टूर्नामेंटों के नॉक आउट दौर में पराजय का सामना किया जिसका मतलब यह है कि हमारा प्रदर्शन अच्छा था।
गौरतलब है कि 2017 चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल मैच में भारत को पाकिस्तान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। विराट कोहली ने टॉस जीतकर फील्डिंग करने का फैसला लिया और यह गलत साबित हुआ। पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज फखर जमान को महेंद्र सिंह धोनी ने बहुत जल्दी ही जसप्रीत बुमराह की गेंद पर आउट कर दिया था लेकिन गेंद नो बॉल थी। इसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ा और जमान ने शतक की बदौलत पाकिस्तान के स्कोर 300 के पार पहुंचा दिया। भारतीय टीम लक्ष्य का पीछा करते हुए 158 रन पर आउट हो गई और 180 रन से मैच हार गई। इस प्रदर्शन की उम्मीद भारत से किसी ने नहीं की होगी।

Post a Comment

0 Comments